मेरा गांव पर निबंध

मेरा गांव पर निबंध इन हिंदी | Mera Gaon Essay In Hindi

मेरा गाँव :

मेरा गांव पर निबंध इन हिंदी | Mera Gaon Essay In Hindi
मेरा गांव पर निबंध इन हिंदी

भारतवर्ष प्रधानता: गांवों का देश है | यहाँ की दो-तिहाई से अधिक जनसंख्या गांवों में रहती है | ओध से अधिक लोगों का जीवन खेती पर निर्भर है | इसलिए गांवों के विकास के बिना देश का विकास किया जा सकता है, ऐसा सोंचा भी नहीं जा सकता |

  मेरा गाँव रामपुर गंगा नदी के किनारे बसा है | मेरे गाँव की आबादी लगभग २२० परिवारों की है | मेरे गाँव में सभी धर्मों के लोग हैं, जो आपस में मिलजुल कर रहते हैं |  

गाँव का मुख्य आय स्त्रोत कृषि और पशु पालन है | चारों ओर खेतों की हरियाली गाँव की शोभा बढ़ाती है | पर्वतमाला और विविध वनस्पतियाँ इसके प्राकृतिक सौंदर्य में चार चाँद लगा देती हैं | गाँव के बीच में एक बड़ा कुआ है | वह ‘ राम का कुआँ ‘ के नाम से प्रसिध्द है | कुछ परिवारों में लघु उद्योग पर निर्भर हैं | मेरे गाँव में सिंचाई का अच्छा प्रबंध है | नदी के किनारे होने के कारण वर्ष भर सिँचाई के पानी की समस्या नहीं होती है | इसके अतिरिक्त सिंचाई के अन्य साधन नहर, कुआँ, तालाब एवम ट्युबवेल आदि हैं | मेरे गाँव में गेंहू, चना, मक्का, चावल, सरसों एवम गन्ना की उपज होती है | 

गाँव के प्रबंध के लिए पंचायत है | गाँव के उत्थान के लिए अनेक समितयाँ बनाई गई हैं | ग्रामीणे की समस्या पंचायत के सामने रखी जाती है | गाँव की गलियों, तालाबों एवम कुओं की सफाई का कार्य सफाई का है | गाँव की शिक्षा का प्रबंध शिक्षा समिति करती है | 

मेरा गाँव एक आदर्श गाँव है | मेरे गाँव में ग्राम-सुधार की दृष्टि से शिक्षा पर भी पर्याप्त ध्यान दिया जा रहा है | गाँव में प्राथमिक पाठशाला शिक्षण के अलावा कुछ नये प्रशिक्षण दिये जाते है, एवम गाँव के नजदीक बैंक व डाकघर स्थित है | यहाँ पक्की सै सड़कों एवं बिजली की व्यवस्था है | यहाँ प्रौढ़ शिक्षा केन्द्र भी चल रहा है | गाँव डिस्पेंसरी भी है | 

इसके अतिरक्त मेरे गाँव में ग्रामीण व्यक्तियों को विभिन्न व्यवसायों का प्रशिक्षण दिया रहा है | हथकरघा और हस्तशिल्प की ओर विशेष ध्यान दिया जा रहा है | विचार यह है कि छोटे उद्योग में, मेरा गाँव एक आदर्श गाँव है | 

मेरे गाँव में कभी-कभी छोटी-छोटी बातों को लेकर कहा-सुनी हो जाती है, लेकिन पंचायत की बैठक में प्रत्येक समस्या सुलझा दी जाती है | कुछ लोग सफाई ओर विशेष ध्यान नहीं देते | प्रौढ़ शिक्षा के प्रति भी कुछ गाँववाले विशेष रूची नही दिखाते | 

फिर भी मेरा गाँव अच्छा है | यहाँ प्रकृति की शोभा है, धर्म की भावना है और मनुष्यता का प्रकाश है | भोले-भाले स्त्री-पुरूष, स्नेहभरे भाभी-देवरों और सरल बच्चों से हरा-भरा मेरा गाँव मुझे बहुत प्यारा लगता है |  

• Good morning images hd download

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *