हमारा राष्ट्रीय पक्षी मोर पर निबंध

हमारा राष्ट्रीय पक्षी मोर पर निबंध – My Favourite & National Bird Peacock Essay In Hindi

Get The Best Essay On My Favourite & National Bird Peacock Essay In Hindi / Mera Priya Pakshi Mor In Hindi Essay :

हमारा राष्ट्रीय पक्षी मोर पर निबंध – My Favourite & National Bird Peacock Essay In Hindi
National Bird Peacock Essay In Hindi

हमारा राष्ट्रीय पक्षी मोर :

विविध जीवों वाली इस धरती पक्षियों का अपना अलग संसार है | हमारे देश में विविध पक्षी पाए जाते हैं | कौआ, कबूतर, कोयला, तोता, मैना, पपीहा आदि पक्षी भारत के जनजीवन से जुड़े हुए हैं | परंतु इन सब में सबसे अधिक ध्यान खींचने वाला पक्षी मोर है | उसे देखते ही हमारा मन खिल उठता है |

मोर बहुत ही खूबसूरत ओर हरे वनील रंग का पक्षी होता है | मोर भारत का राष्ट्रीय पक्षी है | मोर एक बहुत ही चतुर पक्षी है कहा जाता है कि यह इंसानो की आवाज़ भी पहचान लेता है | इनके बारे में एक ओर रोचकबिात है कि मोर बहुत ही शर्मिदा होते है | मोर के सिर पर एक कलगी  होती है जो मोर के खूबसूरत चेहरे पे चार चांद लगाने का काम करती है | मोर के सिर के ऊपर इस लगी कलगी में ४ से ६ दण्डिया होती है जो दिखने में बहुत खूबसूरत होती हे | 

मोर भारत के सबसे विशेष पक्षियों में आता हे | मोर ज्यादातर भारत के सबसे विशेष पक्षियों में आता है | मोर ज्यादातर भारत मे ही पास जाते है | इनकी कई प्रजातियां होती है | मोर हरी-भरी वनस्पतियों के बीच रहकर भी मोर मांसाहारी पक्षी है | साँप, चूहे, मेढक तथा अन्य जीव उसका आहार हैं | साँप का वह घोर शत्रु है | मोर बारिश के आते ही नाचने लगते है | मोर को सबसे ज्यादा सावन का महीना ही पसन्द होता है | वर्षा के बादलों को देखकर उसकी खुशी का ठिकाना नहीं रहता | मौज में आकर वह पंख फैलाता है और नाचने लगता है | उसको थिरक-थिरककर नाचते देख हमारा मन भी नाचने लगता है | मोर के नाचने पर बारिश का आना आज भी भारत मे परम्परा माना जाता है और उनके प्रति बहुत उच्छा व्यवहार भी रखते है | 

  मोर का महत्त्व भारत की सभ्यता में प्राचीन काल से ही है | भारतीय शिल्पकला में मोर को विशेश स्थान मिला है | राजमहालों और मंदिरों की शिल्परचना मोर का अंकन किए बिना अधूरी रहती है | मोर पंख को बड़े बड़े महाराज मुकुट ओर सिंघासन में लगाते थे | मोर पंख में स्याही भरकर लिखने वाले कवियों ने इसकी महत्ता को बताया है | मोर हिंदू धर्म में खास तौर पर मान्य है | भगवान कृष्ण मोर पंख को माथे पर धारण करते थे | इसके अलावा शिव पुत्र कातिकेय का वाहन भी मोर है | 

मोर भारतीय पक्षियों में सिरमौर है | उसका अंग-अंग कलात्मकता से भरा हुआ है | कृषि-प्रधान भारत में वर्षाऋतु का विशेष स्थान है | मोर की प्रिय ऋतु भी वही है | चूहों आदि को खाकर मोर किसानों के हितों की रक्षा करता है | मोर हमारा राष्ट्रीय पक्षी है | 

 

1 thought on “हमारा राष्ट्रीय पक्षी मोर पर निबंध

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *